थिउ सुजाॻु ओ सुहिणा सिंधी, पंहिंजो फ़र्ज़ु निभाइ तूं, सिंधियत जो प्यारो परचमु, दुनिया में लहिराइ तूं।   इष्ट देव झूलणु…